Tag: Jaipur real estate news

अवैध औद्योगिक क्षेत्र पर लगेंगे ताले |

अवैध औद्योगिक क्षेत्र पर लगेंगे ताले |

जयपुर: विश्वकर्मा औद्योगिक क्षेत्र की आड़ में अवैध विकसित औद्योगिक क्षेत्र का शुक्रवार को जेडीए और जिला प्रशासन द्वारा क्षेत्र का मुआयना किया गया|

अफसरों ने फैक्ट्री संचालको और निर्मंकर्ताओ अवैध रूप से चल रहे कारखानों को बंद करने की चेतावनी दी|  इसके अलावा कई जगह काम बंद कराया गया और अवैध निर्माण भी ध्वस्त भी किया गया|

बता दे कि यह क्षेत्र 50 बीघा में फैला है| शुक्रवार को पहुंची अफसरों की टीम ने सिर्फ कुछ ही बाउंड्रीवाल  ही ध्वस्त की और कारखाना मालिकों चेतावनी देते हुए छोड़ दिया और कहा की जल्द से जल्द इसे बंद कराये| इसके बाद कुछ लोगों द्वारा यहां  विरोध किया जाने लगा| मामला ज्यादा आगे न बढ़े और लोग हिंसात्मक न हो इसलिए अफसर चेतावनी दे कर वापस लौट गये|

अधिकारियों ने बताया की फैक्ट्री के मालिकों को अवैध कारखाने हटाने के लिए नोटिस के साथ कुछ दिन की मौहलत दी गयी है|  विश्वकर्मा औद्योगिक क्षेत्र 17 के आगे कृष्णा इंडस्ट्रियल के नाम से यहां प्लाट बेचे जा रहे थे और रजिस्ट्री भी करवाई जा रही थी|  विकसित अवैध औद्योगिक क्षेत्र को वीकेआई 19 नाम दे दिया गया था जबकि रीको के रिकॉर्ड में ऐसा कोई क्षेत्र है नि नहीं|

Advertisements
Jaipur Properties Sealed for Tax Dues.

Jaipur Properties Sealed for Tax Dues.

Jaipur: The Jaipur Municipal Corporation (JMC) has decided to take strict action against the defaulters who have not deposited the urban development (UD) tax even after their proprieties were sealed.

In April, the corporation is planning to put these properties under hammer for auction to recover it’s dues. The JMC has issued warning to all the defaulters to deposit due amount till March 31 in order to avoid action.

“People who have objection with the calculation of UD tax can deposit 60% amount. The JMC would examine the amount and return the balance, if there is any,” added JMC official.

In February, the JMC initiated a drive to recover UD tax from its defaulters. The corporation fixed a target of Rs 150 crore. However, so far, it has only recovered Rs 48 crore, which is even lesser than the last financial year recovery. ” In last financial year 2016-2017, the JMC recovered Rs 65 crore. The momentum was break due to ongoing state assembly. The JMC has stopped taking action against defaulters as matter could be raised in assembly.” said a source…..Read more