Tag: ग्रेटर नोएडा पुलिस का दावा है कि वह बायर्स के हितों के लिए बिल्डर्स पर अंकुश

ग्रेटर नोएडा पुलिस का दावा है कि वह बायर्स के हितों के लिए बिल्डर्स पर अंकुश लगाएगी

ग्रेटर नोएडा पुलिस का दावा है कि वह बायर्स के हितों के लिए बिल्डर्स पर अंकुश लगाएगी

ग्रेटर नोएडा: एक तरफ पुलिस अपने ट्विटर हैंडल से कह रही है कि रियल एस्टेट के मामलों की शिकायत क्रेडाई से करें, वहीं ग्रेटर नोएडा में पुलिस का दावा है कि वह बायर्स के हितों के लिए बिल्डर्स पर अंकुश लगाएगी। पुलिस बिल्डरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करेगी और सभी मामलों की रिपोर्ट शासन को भेजेगी।

एस. एन. वर्मा नामक शख्स ने रविवार को अपने ट्विटर हैंडल से सीएम योगी आदित्यनाथ, सीएम ऑफिस, यूपी पुलिस और डीजीपी को ट्वीट कर बिल्डर्स की मनमानी की जानकारी दी। उन्होंने इन सबको 19 ट्वीट करके आरोप लगाया है कि बिल्डर बायर्स के साथ चीटिंग कर रहे हैं। पुलिस उनके खिलाफ रिपोर्ट नहीं लिखती। आरोप लगाया गया है कि पुलिस और बिल्डर मिले हुए हैं। लिहाजा बायर न्याय के लिए भटक रहे हैं। उन्होंने सीएम से मांग की है कि पुलिस को कार्रवाई के लिए निर्देश दिए जाएं। उन्हें नोएडा पुलिस पर भरोसा नहीं है।

इसके बाद ट्विटर पर ही यूपी पुलिस की ओर से नोएडा पुलिस को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिए गए। नोएडा पुलिस ने ट्वीट कर एस. एन. वर्मा को बिल्डरों की संस्था क्रेडाई में शिकायत करने की सलाह दे दी। इससे गुस्साए एस. एन. वर्मा ने ट्वीट कर सवाल उठाया कि फ्रॉड की शिकायत बिल्डरों की संस्था क्रेडाई से क्यों की जाए? उन्होंने क्रेडाई की विश्वसनीयता पर भी सवाल उठाया। साथ ही ट्वीट कर सीएम योगी से कहा कि पुलिस बिल्डरों को बचाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने पुलिस व बिल्डरों का गठजोड़ तोड़ने की मांग की है……आगे पढ़ें