पीपीसी मॉडल के तहत निम्न वर्गो के लिए भी घर

पीपीसी मॉडल के तहत निम्न वर्गो के लिए भी घर

सुरत: सूरत नगर निगम (एसएमसी) ने आवासीय परियोजना का निर्माण पीपीसी मॉडल के तहत करने का फैसला लिया है | 879 करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना के अंतर्गत 7,500 घरों का निर्माण किया जायेगा | सबसे अहम बात तो ये है की ये परियोजना आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए लायी गयी है जिनके पास अपने घर घर नहीं है |

इस आवासीय परियोजना का निर्माण सार्वजनिक और निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल के तहत कम लागत से किया जायेगा |

प्रधान मंत्री आवास योजना के अंतर्गत योजना का आरम्भ शहर के चार स्थानों पर होगा जिसके लिए निजी बिल्डरों को इसके तहत पत्र भी जारी कर दिया गया है |

बता दे कि योजना के लिए अंबाणा क्षेत्र में छह बस्तियों का चयन किया गया जिसमें अनवरनगर, अंबेडकरनगर, हलपति वास, ख्वाजा नगर, विवेकानंद नगर और उमियानगर शामिल हैं | इसके साथ ही  योजना के लिए करीब 1.30 लाख वर्गमीटर भूमि का प्रयोग किया जायेगा और सभी 7500 झोपडि़यों को उच्च स्तरीय इमारतों में तब्दील किया जायेगा | जिसमे 25 वर्गमीटर वाले के दो कमरों के साथ  रसोई घर और बाथरूम भी होगा |

इसके साथ ही एसएमसी के अधिकारियों का कहना है कि जब तक इन नये घरों का निर्माण नहीं किया जाता है तब तक वे निवासियों के लिए पारगमन आवास उपलब्ध कराएंगे | साथ ही बिल्डरों को शेष भूमि या फ्लैटों के फ्रीलाइट अधिकार मिलेगा |

अगर योजना के पूरा होने और कब्ज़े की बात करे तो अधिकारियों का कहना है कि इसके लिए हम तीन साल में घरों के कब्जे को लाभार्थियों को देने की उम्मीद कर रहे

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s